Gaza: गाजा में इजरायली हमले में भारतीय संयुक्त राष्ट्र कर्मी की मौत

गाजा: इजरायल–हमास युद्ध ने एक भारतीय की जान ले ली है। गाजा में सोमवार को राफा में हुए एक हमले में संयुक्त राष्ट्र के साथ काम करने वाले एक भारतीय कर्मी की मौत हो गई। यह इजरायल–हमास संघर्ष की शुरुआत के बाद से संयुक्त राष्ट्र की ‘पहली अंतरराष्ट्रीय‘ क्षति है। मृतक भारतीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा एवं संरक्षा विभाग (डीएसएस) में कार्यरत थे। वह भारतीय सेना के पूर्व जवान थे। हालांकि, उनकी पहचान अभी तक सार्वजनिक नहीं की गई है। जानकारी के अनुसार, जिस संयुक्त राष्ट्र वाहन में यह भारतीय कर्मी सवार थे, उसे राफा में यूरोपीय अस्पताल ले जाते समय निशाना बनाया गया। इस हमले में एक अन्य डीएसएस कर्मचारी भी घायल हुआ है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने इस घटना पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र कर्मचारियों पर होने वाले सभी हमलों की निंदा की है और मामले की पूरी जांच की मांग की है। गुटेरेस ने मृतक के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा, “गाजा में संघर्ष का भयावह असर जारी है।“ उन्होंने तत्काल मानवीय युद्धविराम और सभी बंधकों की रिहाई के लिए अपनी अपील दोहराई है। गौरतलब है कि 7 अक्टूबर से गाजा में लगभग 190 संयुक्त राष्ट्र कर्मी मारे गए हैं, जिनमें से ज्यादातर संयुक्त राष्ट्र राहत और कार्य एजेंसी (यूएनआरडब्ल्यूए) के राष्ट्रीय कर्मचारी हैं।   Pls read:POK: पाक अधिकृत कश्मीर में महंगाई के विरोध…

POK: पाक अधिकृत कश्मीर में महंगाई के विरोध में प्रदर्शन, रेंजर्स तैनात

पाक अधिकृत कश्मीर में बिजली बिलों के विरोध में प्रदर्शन जारी, रेंजर्स तैनात मुजफ्फराबाद: पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू–कश्मीर (पीओजेके) में बिजली बिलों और बढ़ते करों के विरोध में प्रदर्शन लगातार तीसरे दिन भी जारी हैं। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पाकिस्तानी सेना को तैनात किया गया है। अवामी एक्शन कमेटी (एएसी) के आह्वान पर शुरू हुए ये प्रदर्शन हिंसक रूप ले चुके हैं। शुक्रवार को मीरपुर में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई और 90 से ज़्यादा लोग घायल हो गए। भिम्बर, मीरपुर और बाग़ शहर समेत कई इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। एएसी ने प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा से खुद को अलग कर लिया है। संगठन के एक सदस्य साजिद जगवाल ने कहा कि उनका आंदोलन शांतिपूर्ण है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज़ शरीफ़ ने स्थिति पर चर्चा के लिए सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। उन्होंने पीओजेके के प्रधानमंत्री से भी बात की है और पाकिस्तान मुस्लिम लीग–एन के पदाधिकारियों को समाधान खोजने के लिए एक्शन कमेटी के नेताओं से बात करने का निर्देश दिया है। शहबाज़ शरीफ़ ने कहा है कि वो स्थिति को लेकर चिंतित हैं और कानून को अपने हाथ में लेने या सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।   Pls read:US: पत्नी की हत्या का बीमा के…

Iran: ईरान से रिहा हुए पांच भारतीय नाविक, सकुशल स्वदेश रवाना

तेहरान: बड़ी खबर ईरान से आ रही है जहाँ अप्रैल महीने में ज़ब्त किए गए इजरायली जहाज ‘एमएससी एरीज‘ पर सवार सभी पाँच भारतीय नाविकों को रिहा कर दिया गया है। भारतीय दूतावास ने पुष्टि की है कि नाविक स्वस्थ हैं और ईरान से प्रस्थान कर चुके हैं। गौरतलब है कि 13 अप्रैल को ईरान ने इजरायल से जुड़े इस मालवाहक जहाज को अपने कब्ज़े में ले लिया था। जहाज पर कुल 17 भारतीय नागरिक सवार थे जिनमें से 12 को पहले ही रिहा किया जा चुका था। भारत ने जताया आभार भारतीय दूतावास ने नाविकों की रिहाई के लिए ईरानी अधिकारियों का आभार व्यक्त किया है। साथ ही, बंदर अब्बास स्थित दूतावास और वाणिज्य दूतावास द्वारा किए गए अथक प्रयासों की भी सराहना की गई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने भी इस सफलता पर प्रसन्नता जताई है। कूटनीतिक प्रयासों की जीत यह घटना इस बात का प्रमाण है कि कूटनीतिक प्रयासों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से कठिन परिस्थितियों का भी समाधान निकाला जा सकता है। उम्मीद है कि भविष्य में भी ऐसे मामलों में सभी पक्ष संवेदनशीलता और सहयोग का परिचय देंगे।   Pls read:US: अमेरिकी विश्वविद्यालयों में फिलीस्तीनी समर्थक छात्रों के…

Canada: निज्जर हत्याकांड में गिरफ्तार तीन भारतीय अदालत में पेश, खालिस्तानी समर्थकों का प्रदर्शन

सरे (ब्रिटिश कोलंबिया): खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में गिरफ्तार तीन भारतीय नागरिक मंगलवार को सरे प्रांतीय न्यायालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेश हुए। अदालत के बाहर और परिसर में सैकड़ों खालिस्तान समर्थक जमा हुए, जिनमें से कुछ ने खालिस्तान के झंडे लहराए और नारेबाजी की। तीनों आरोपी, करणप्रीत सिंह, कमलप्रीत सिंह और करण बराड़, एडमोंटन के निवासी हैं और उन पर फर्स्ट–डिग्री हत्या और हत्या की साजिश रचने का आरोप है। निज्जर, एक कनाडाई नागरिक और खालिस्तानी आतंकी, की 18 जून को सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले ने कनाडा और भारत के बीच तनाव बढ़ा दिया है, खासकर जब कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने निज्जर की हत्या में भारतीय एजेंसियों की संलिप्तता का आरोप लगाया था। भारत ने इन आरोपों को “बेतुका“ बताते हुए खारिज कर दिया है। अदालत में पेशी के दौरान, तीनों आरोपियों ने अपने वकीलों के माध्यम से कोई बयान नहीं दिया। अगली सुनवाई की तारीख अभी तय नहीं हुई है। इस बीच, कनाडा में सिख समुदाय और खालिस्तान समर्थकों के बीच इस मामले को लेकर तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। कई लोग निज्जर की हत्या की निंदा कर रहे हैं और न्याय की मांग कर रहे हैं, जबकि कुछ लोग खालिस्तान आंदोलन के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं। यह मामला अभी भी विकास के चरण में है और इसके कई कानूनी और राजनयिक पहलू हैं। आने वाले दिनों में इस मामले की जांच और अदालती कार्यवाही पर सभी की निगाहें रहेंगी।   pls read:US: जज हश मनी ट्रायल में जज डोनाल्ड…

China: ताइवान के पास चीनी सैन्य गतिविधियों से बढ़ा तनाव

ताइपे, ताइवान – ताइवान के आस–पास चीन की बढ़ती सैन्य गतिविधियों से तनाव में इज़ाफा हुआ है। ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि तीन चीनी सैन्य विमान और छह नौसैनिक जहाजों को ताइवान की समुद्री सीमा के पास देखा गया है। इसके अलावा, दो चीनी विमानों ने ताइवान के दक्षिण–पश्चिमी वायु रक्षा पहचान क्षेत्र (ADIZ) में प्रवेश किया है। घटना का विवरण: स्थानीय समयानुसार सुबह 6 बजे तक, तीन चीनी सैन्य विमान और छह चीनी नौसेना के जहाजों की पहचान की गई। सबसे चिंताजनक बात यह है कि दो चीनी विमानों ने ताइवान के दक्षिण–पश्चिमी ADIZ में प्रवेश किया। ADIZ एक ऐसा हवाई क्षेत्र होता है जहाँ एक देश अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में विमानों की पहचान, पता लगाने और नियंत्रित करने का काम करता है। ताइवान की सेना ने तुरंत कार्रवाई करते हुए गतिविधियों पर नज़र रखी और ताइवान की संप्रभुता और सुरक्षा की रक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए। संदर्भ और प्रभाव: यह घटना ताइवान और चीन के बीच चल रहे तनाव को और बढ़ा देती है। चीन अक्सर स्वशासित द्वीप ताइवान के पास सैन्य अभ्यास और युद्धाभ्यास करता रहता है, जिसे वह आधिकारिक तौर पर अपना हिस्सा मानता है। ताइवान के पास चीनी सैन्य संपत्तियों की मौजूदगी एक संवेदनशील मुद्दा है, जिससे क्षेत्र में संभावित संघर्ष को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। ताइवान सरकार ने ताइवान जलडमरूमध्य में स्थिरता और शांति सुनिश्चित करने के लिए लगातार अंतरराष्ट्रीय समर्थन और ध्यान देने का आह्वान किया है। अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया और भविष्य की संभावनाएं: अंतर्राष्ट्रीय समुदाय स्थिति पर करीब से नज़र रख रहा है और दोनों पक्षों से संयम बरतने और बातचीत करने का आग्रह कर रहा है। यह देखना बाकी है कि स्थिति कैसे विकसित होती है और चीन इस क्षेत्र में आगे क्या कदम उठाता है।   PLs read:US: जज…

Canada: कनाडा में निज्जर हत्याकांड में तीन संदिग्ध गिरफ्तार, भारत से संबंधों की पुष्टि नहीं

कनाडा के ओटावा में खालिस्तानी समर्थक आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कनाडा पुलिस ने उनकी तस्वीरें और इस्तेमाल की गई कार की तस्वीरें जारी की हैं। गिरफ्तार व्यक्तियों के बारे में प्रमुख जानकारी: पहचान: करणप्रीत सिंह, कमलप्रीत सिंह और करण बराड़ (पंजाब और हरियाणा के नागरिक) कनाडा में प्रवेश: 2021 में अस्थायी और छात्र वीजा पर आए, लेकिन किसी ने भी पढ़ाई में दाखिला नहीं लिया। संबंध: लॉरेंस बिश्नोई गिरोह से संभावित संबंध गिरफ्तारी स्थान: अल्बर्टा के एडमॉन्टन में हत्या का मकसद: अभी तक अज्ञात महत्वपूर्ण बातें: तीनों संदिग्ध कनाडा में गैर–स्थायी निवासी परमिट पर रह रहे थे। कनाडा पुलिस ने हत्या में भारत से किसी भी तरह के संबंध होने के सबूत नहीं दिए हैं। निज्जर को 2020 में भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आतंकवादी घोषित किया था। जून 2023 में सरे में एक गुरुद्वारे के पास उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने हत्या के लिए भारत की एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराया था, लेकिन भारत सरकार ने इन दावों को खारिज कर दिया था। जुलाई 2022 में, NIA ने जालंधर में एक हिंदू पुजारी की हत्या के मामले में निज्जर पर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। निज्जर पर 2007 में पंजाब के एक सिनेमाघर में हुए बम विस्फोट का भी आरोप था।

US: जज हश मनी ट्रायल में जज डोनाल्ड ट्रंप पर फिर लगा सकती हैं जुर्माना

न्यूयार्क। पोर्न स्टार को धन देने के मामले में सुनवाई कर रहे न्यायाधीश ने संकेत दिया…

US: अमेरिकी विश्वविद्यालयों में फिलीस्तीनी समर्थक छात्रों के प्रदर्शन पर पुलिस की कार्रवाई

न्यूयॉर्क: अमेरिका भर के विश्वविद्यालयों में फिलीस्तीनी समर्थक छात्रों के प्रदर्शन ने तूल पकड़ लिया है। छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसरों में तंबू गाड़कर कई दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी रखा है। बढ़ते विरोध को देखते हुए पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कई छात्रों को गिरफ्तार किया है और विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को निलंबित करने की चेतावनी दी है। कोलंबिया विश्वविद्यालय में तनाव: कोलंबिया विश्वविद्यालय में छात्रों द्वारा लगाए गए तंबुओं को पुलिस ने हटा दिया है और विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को निलंबित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पुलिस ने रात 9 बजे के बाद कार्रवाई करते हुए प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। टेक्सास विश्वविद्यालय में भी गिरफ्तारियां: टेक्सास विश्वविद्यालय में भी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है। मई में होने वाले समारोहों से पहले दबाव: मई में होने वाले विश्वविद्यालय समारोहों से पहले प्रशासन पर प्रदर्शनकारियों को हटाने का दबाव बढ़ रहा है। इस महीने की शुरुआत में कोलंबिया में शुरू हुए ये विरोध प्रदर्शन अब कैलिफोर्निया से लेकर मैसाचुसेट्स तक फैल चुके हैं।   Pls read:US: अमेरिका ने चीन पर चुनावों में दखल का लगाया…

Pakistan: कंगाल पाकिस्तान को IMF से मिली 110 करोड़ डालर की मदद

वाशिंगटन: आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से बड़ी राहत मिली है। IMF ने पाकिस्तान को १.१ अरब अमेरिकी डॉलर की तत्काल वित्तीय सहायता देने की मंजूरी दे दी है। यह मदद IMF के राहत पैकेज के तहत दी जा रही है। हालांकि, IMF ने साफ किया है कि पाकिस्तान को अपनी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कड़े कदम उठाने होंगे। IMF ने रखीं शर्तें IMF के कार्यकारी बोर्ड ने पाकिस्तान को वित्तीय सहायता देने का फैसला लेते हुए कहा है कि पाकिस्तान को अपनी अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कई कदम उठाने होंगे। इनमें शामिल हैं: वृहद आर्थिक नीतियों में सुधार: पाकिस्तान को मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने, चालू खाता घाटे को कम करने और विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ाने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे। संरचनात्मक सुधार: पाकिस्तान को कर प्रणाली में सुधार, ऊर्जा क्षेत्र में सुधार और सरकारी खर्चों में कमी जैसे संरचनात्मक सुधारों को लागू करना होगा। सामाजिक सुरक्षा: पाकिस्तान को अपने सबसे गरीब और कमजोर नागरिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए कदम उठाने होंगे। पाकिस्तान के सामने चुनौतियाँ पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था कई चुनौतियों से जूझ रही है। इनमें शामिल हैं: उच्च मुद्रास्फीति: पाकिस्तान में मुद्रास्फीति दर बहुत अधिक है, जिससे आम लोगों का जीवनयापन मुश्किल हो गया है। बढ़ता चालू खाता घाटा: पाकिस्तान का आयात निर्यात से ज्यादा है, जिससे चालू खाता घाटा बढ़ रहा है। कम होते विदेशी मुद्रा भंडार: पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से कम हो रहे हैं, जिससे देश की वित्तीय स्थिरता को खतरा है। आगे का रास्ता पाकिस्तान को IMF की शर्तों को पूरा करने और अपनी अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत है। पाकिस्तान को संरचनात्मक सुधारों को लागू करने और बाहरी समर्थन प्राप्त करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम करना होगा। तभी पाकिस्तान अपने आर्थिक संकट से उबर पाएगा।   Pls read_US:…

US: पत्नी की हत्या का बीमा के पैसों से खरीदी Pleasure Doll

कैनसस सिटी (अमेरिका): अमेरिका के कैनसस सिटी में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी और उसके जीवन बीमा के पैसों से एक डॉल खरीदी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। क्या है मामला? 2019 में, कोल्बी ट्रिकल नाम के एक व्यक्ति ने 911 पर कॉल करके बताया कि उसकी पत्नी क्रिस्टन ट्रिकल ने खुद को गोली मार ली है। शुरूआत में इसे आत्महत्या का मामला माना गया था, लेकिन बाद में जांच में पता चला कि कोल्बी ने ही अपनी पत्नी की हत्या की थी। क्रिस्टन के पास दो जीवन बीमा पॉलिसी थीं, जिनकी कुल राशि 120,000 डॉलर (लगभग 1 करोड़ रुपये) से अधिक थी। पत्नी की मौत के बाद, कोल्बी को बीमा राशि मिल गई, जिससे उसने एक डॉल खरीदी और बाकी पैसों को मौज–मस्ती और कर्ज चुकाने में खर्च कर दिया। पुलिस को हुआ शक: शुरुआती जांच में ही पुलिस को कोल्बी पर शक हुआ था। बाद में, जांचकर्ताओं ने सबूत जुटाए और कोल्बी को गिरफ्तार कर लिया। परिवार के सदस्य सदमे में: क्रिस्टन की चाची डेलिन राइस ने कहा कि वह इस बात से हैरान हैं कि कोल्बी ने अपनी पत्नी के जीवन बीमा के पैसों से एक डॉल खरीदी। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है जैसे उसने क्रिस्टन की जगह एक डॉल खरीद ली हो।