Uttarakhand: जानवर चराने गए वृद्ध को मगरमच्छ ने बनाया निवाला

खबरें सुने

नानकमत्ता के ग्राम सिद्धा निवासी 60 वर्षीय जगदीश सिंह पुत्र पचुआ की फौड़ी नदी में मगरमच्छ के हमले से मौत हो गई।

जगदीश बुधवार को अपने जानवरों को चराने के लिए फौड़ी नदी पार ट्रांचिग ग्राउंड के पास गए थे। सभी जानवर शाम को घर लौट आए, लेकिन जगदीश नहीं लौटे। इसके बाद स्वजन और ग्रामीणों ने उनकी खोजबीन शुरू की, लेकिन रात तक उनका कहीं पता नहीं चला।

गुरुवार को फिर खोजबीन करने पर जगदीश का शव पैलेस से लगी फौड़ी गंगा नदी में क्षत-विक्षत हालत में मिला। घटना की सूचना पर थानाध्यक्ष देवेन्द्र गौरव, चौकी इंचार्ज अशोक कुमार, एसआइ कीर्ति भट्ट मौके पर पहुंचे।

वन विभाग ने की पुष्टि

वन विभाग जौरासाल से वन दारोगा राजन सिंह बिष्ट, गिरिश वर्मा भी मौके पर पहुंचे। मृतक जगदीश के पेट के हिस्से का मांस नहीं था। वन विभाग के अधिकारियों ने अंदेशा जताया कि नदी पार करते समय मगरमच्छ के हमले से मौत हुई है।

परिवार में मातम

मृतक जगदीश परिवार में अकेले थे। घटना की सूचना उनकी तीन बहन ग्राम विचवा से मंजू राणा व शांति देवी, कलावती राणा को मिली। स्वजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

पुलिस ने की कार्रवाई

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

यह घटना स्थानीय लोगों में भय का माहौल पैदा कर गई है। वन विभाग ने क्षेत्र में मगरमच्छों की गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए सतर्कता बरती है और स्थानीय लोगों को नदी में अकेले जाने से बचने की सलाह दी है।

 

Pls read:Uttarakhand: सड़क निर्माण मशीन से टक्कर, दो दोस्तों की मौत, एक गंभीर रूप से घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *