Uttarakhand: मुख्यमंत्री धामी ने जनता से फीडबैक लेकर, अधिकारियों को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली से चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं के संबंध की समीक्षा। विभिन्न यात्राओं के कुशल…

Uttarakhand: श्री केदारनाथ यात्रा मार्ग में जाम में फंसे यात्रियों को जिला प्रशासन ने बांटे फूड पैकेट एवं पानी 

श्री केदारनाथ धाम में उमड़ रहा है आस्था का सैलाब, भारी संख्या में श्री केदारनाथ धाम…

Uttarakhand: कूटरचना कर फर्जी रजिस्ट्रेशन तैयार करने पर दो के खिलाफ FIR दर्ज

बिना रजिस्ट्रेशन व रजिस्ट्रेशन की तिथि से पूर्व यात्रा न करें- एस0पी0 उत्तरकाशी चारधाम यात्रा का…

Uttarakhand: बिना पंजीकरण यमुनोत्री-गंगोत्री धाम न आएं तीर्थयात्री: सुंदरम

-सचिव मुख्यमंत्री आर मीनाक्षी सुंदरम ने लिया यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा -ऋषिकेश और डामटा बैरियर पर…

Uttarakhand: चारधाम यात्रा में अबतक 11 लोगों की मौत, भीड़ के चलते बंद किये आफलाइन रिजस्ट्रेशन

नई दिल्ली: चार धाम यात्रा को शुरू हुए फिलहाल 5 ही दिन हुए हैं, लेकिन बड़ी संख्या…

Chardham: चारधाम यात्रा का दुष्प्रचार करने वाले तथा यात्रा के सम्बन्ध में फेक न्यूज या विडियो बनाने वालों के खिलाफ कठोर वैधानिक कार्यवाही के निर्देश

सीएस राधा रतूड़ी ने दिए चारधाम यात्रा का दुष्प्रचार करने वाले तथा यात्रा के सम्बन्ध में…

Uttarakhand: एक व्यक्ति के गुप्तांग पर एसिड अटैक, अंजान था हमलावर

अल्मोड़ा। दन्यां क्षेत्र में दिल दहलाने वाला एसिड अटैक की घटना सामने आई है। काम से…

Uttarakhand: चारधाम यात्रा का आगाज, केदारनाथ, युमनोत्री और गंगोत्री धाम के खुले कपाट

देहरादून: अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर शुक्रवार को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ ही हिमालय की पवित्र चारधाम यात्रा का शुभारंभ हो गया है। इसके बाद यमुनोत्री धाम के कपाट भी श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए, जहाँ माँ यमुना की डोली का भव्य स्वागत किया गया। हज़ारों श्रद्धालुओं ने किया दर्शन कपाट खुलने के साक्षी बनने के लिए लगभग 15 हजार तीर्थयात्री गुरुवार शाम ही केदारनाथ और गंगोत्री धाम पहुँच चुके थे। इसके अलावा, 35 हजार से ज़्यादा श्रद्धालु विभिन्न पड़ावों पर ठहरे हुए हैं। हेली सेवा भी शुरू केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवा भी शुक्रवार से शुरू हो गई है, जिससे यात्रियों को पहुँचने में आसानी होगी। गंगोत्री और तुंगनाथ धाम के कपाट भी खुले चारधाम यात्रा के तहत शुक्रवार को ही गंगोत्री धाम के कपाट भी खोले गए। इसके अलावा, पंचकेदारों में तीसरे केदार भगवान तुंगनाथ धाम के कपाट भी वैदिक मंत्रोच्चार के साथ श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। भव्य सजावट से सजे धाम कपाटोद्घाटन के लिए सभी धामों को फूलों से भव्य रूप से सजाया गया था। केदारनाथ धाम को 20 क्विंटल, गंगोत्री धाम को 21 क्विंटल और यमुनोत्री धाम को 10 क्विंटल फूलों से सजाया गया। चारधाम यात्रा का कार्यक्रम यमुनोत्री धाम: सुबह 10:29 बजे कपाट खुले गंगोत्री धाम: दोपहर 12:25 बजे कपाट खुले केदारनाथ धाम: सुबह 7 बजे कपाट खुले यात्रा को लेकर उत्साह चारधाम यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह है। उम्मीद है कि इस साल बड़ी संख्या में तीर्थयात्री चारधाम के दर्शन करेंगे।  …

Uttarakhand: वनाग्नि रोकने में लापरवाही बरतने पर सीएम धामी के 17 कारिंदों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के आदेश

सचिवालय में वनाग्नि नियंत्रण के संबंध में पूर्व में दिए गए निर्देशों की समीक्षा करते हुए…

Uttarakhand: रिटायर्ड प्रोफेसर को 24 घंटे रखा आनलाइन अरेस्ट, चार लाख रु भी ठगे

हल्द्वानी: साइबर अपराधियों ने एक बार फिर अपने जाल में एक बुजुर्ग को फंसा लिया है। इस बार उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रोफेसर हरिहर प्रसाद शुक्ला शिकार हुए हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच के अधिकारी बनकर ठगों ने उन्हें ड्रग्स मामले में फंसाने की धमकी देकर उनके बैंक खाते से चार लाख रुपये ठग लिए। 24 घंटे वीडियो कॉल पर रखा बंधक: ठगों ने प्रोफेसर शुक्ला को फोन कर बताया कि उनके आधार कार्ड से ताइवान भेजे जा रहे एक पार्सल में ड्रग्स बरामद हुए हैं। इसके बाद उन्होंने उन्हें वीडियो कॉल पर 24 घंटे तक बंधक बनाए रखा और फर्जी जाँच के नाम पर उनके खाते से चार लाख रुपये ट्रांसफर करवा लिए। पुलिस ने शुरू की जाँच: प्रोफेसर शुक्ला ने घटना की जानकारी मुखानी थाने में दी है। पुलिस ने अज्ञात ठगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है। ठगी का तरीका: ठगों ने खुद को मुंबई क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर प्रोफेसर शुक्ला को फोन किया। उन्होंने कहा कि उनके आधार कार्ड से ताइवान भेजे जा रहे एक पार्सल में ड्रग्स बरामद हुए हैं। इसके बाद उन्होंने उन्हें वीडियो कॉल पर 24 घंटे तक बंधक बनाए रखा। फर्जी जाँच के नाम पर उन्होंने प्रोफेसर शुक्ला के खाते से चार लाख रुपये ट्रांसफर करवा लिए। पुलिस ने लोगों से की अपील: पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वे अनजान नंबरों से आने वाले कॉल का जवाब न दें और किसी भी व्यक्ति को अपनी निजी जानकारी न बताएं। साथ ही, पुलिस ने कहा है कि किसी भी सरकारी एजेंसी द्वारा वीडियो कॉल पर जाँच नहीं की जाती है। यह घटना एक बार फिर साइबर अपराध के बढ़ते खतरे की ओर इशारा करती है। लोगों को इस तरह के अपराधों से बचने के लिए सतर्क रहने की आवश्यकता है।   Pls read:Uttarakhand:…