Uttarakhand: प्रेमिका के खर्चे पूरे करने के लिए मुन्नाभाई बना एमबीबीएस का छात्र

खबरें सुने

देहरादून। पुलिस ने राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा (नीट) में एक मुन्नाभाई को गिरफ्तार किया है। आरोपित किसी परीक्षार्थी के जगह पर परीक्षा देने के लिए पहुंचा था। पकड़े गए युवक ने बताया कि प्रेमिका के खर्चे पूरे करने के लिए उसने यह कदम उठाया था। रविवार को राजा रोड स्थित श्री गुरुराम राय पब्लिक स्कूल में परीक्षा नियंत्रक ने परीक्षार्थियों की बायोमेट्रिक उपस्थिति लेते समय आरोपी को पकड़ा। परीक्षा नियंत्रक अरुण सक्सेना ने शहर कोतवाली में इसकी  शिकायत दी। आरोपित देव प्रकाश निवासी ग्राम गिरधर घोरा, पोस्ट चितलनाना, जिला सांचौर, राजस्थान के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। वह रुद्रपुर (ऊधम सिंह नगर) के रहने वाले युवक के बदले एग्जाम देने आया था।

पूछताछ में आरोपित ने पुलिस को बताया कि वह राजकीय मेडिकल कालेज पाली (राजस्थान) में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र है। सितंबर 2022 में वह घूमने के लिए ऋषिकेश, हरिद्वार तथा केदारनाथ आया था, इसी दौरान उसकी मुलाकात रुद्रपुर (ऊधम सिंह नगर) निवासी मयंक गौतम से हुई। बातचीत के दौरान मयंक ने बताया कि वह नीट की परीक्षा पास करना चाहता था, लेकिन उससे क्वालिफाई नहीं हो रही।

इसके बाद आरोपित लगातार मयंक के संपर्क में रहा। मयंक ने आरोपित को उसके स्थान पर नीट की परीक्षा देने के एवज में दो लाख रुपये देने का प्रलोभन दिया। पूछताछ में यह बात भी सामने आई कि वह पढ़ाई के साथ प्रेमिका के खर्चे वहन नहीं कर पा रहा था, इसलिए आरोपित देव प्रकाश मयंक के प्रलोभन में आ गया।

योजना के अनुसार, देव प्रकाश ने अपनी पासपोर्ट साइज फोटो मयंक को भेजी, जिसे मयंक ने परीक्षा फार्म में लगाया और मयंक ने आरोपित को नीट की परीक्षा का केंद्र गुरुराम राय पब्लिक स्कूल राजा रोड में होने की जानकारी दी। रविवार को आरोपित मयंक की ओर तैयार किए गए प्रवेश पत्र को लेकर परीक्षा केंद्र में परीक्षा देने पहुंचा, लेकिन बायोमेट्रिक मशीन से आरोपित के फिंगर प्रिंट का मयंक गौतम के आधार कार्ड से मिलान न होने पर वह पकड़ा गया।

 

यह पढ़ेंःUttarakhand: देहरादून के गोविंदगढ़ में 15 झोपड़ियों में आग लगने का मुख्यमंत्री धामी ने लिया संज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *