Uttarakhand : अनुकृति के बाद क्या ससुर हरक की भी होगी भाजपा में एंट्री?

खबरें सुने

देहरादून। पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत की पुत्रवधू अनुकृति गुसाईं के भाजपा का दामन थामने के बाद कई सवाल उठ रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि हरक सिंह रावत के ऊपर चल रही ईडी की पूछताछ और अनुकृति गुसाईं से भी मामले में पूछताछ होने की वजह से अनुकृति गुंसाई ने भाजपा ज्वाइव की है। जबकि कुछ लोगों का मानना है कि हरक ने पहले बहू की एंट्री भाजपा में करवाई है। उसके बाद हरक भी भाजपा का दामन थाम लेंगे।

बता दें कि साल 2022 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा पहले हरक सिंह रावत को पार्टी से बाहर का रास्ता कांग्रेस में जाने की अटकलें पर दिखाया गया। तो वहीं फिर सीएम धामी ने हरक को कैबिनेट मंत्री पद से भी बर्खास्त कर दिया था।कई दिनों तक दिल्ली में दिल्ली डेरा डालने के बाद हरक सिंह रावत और अनुकृति गुसाईं ने कांग्रेस का दामन थाम लिया था।

हालांकि राजनीति के चतुर खिलाड़ी हरक सिंह रावत को कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया। लेकिन अनुकृति गुसाईं को लैंसडाउन विधानसभा से टिकट दे दिया। अनुकृति ने चुनाव लड़ा लेकिन वो हार गईं और राजनीति के पुरोधा माने जाने वाले हरक अपनी बहू को भी चुनाव नहीं जीता पाए।

लोकसभा चुनाव में हरक ने कांग्रेस से हरिद्वार लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई। लेकिन इसी बीच पाखोरो टाइगर सफारी के नाम में भ्रष्टाचार के मामले में हरक की सीबीआई जांच और उसके बाद ईडी की पूछताछ ने हरक की मुश्किलें बढ़ा दी। हरक का चुनाव लड़ना तो दूर की बात हो गई बल्कि हरक की मुश्किलें और भी बढ़ने लगी हैं। हरक के करीबियों से भी ईडी ने पूछताछ शुरू कर दी है। अब अनुकृति गुंसाई को भाजपा में एंट्री मिलने से साफ है कि हरक की राह भी आसान होगी।

अब चर्चाओं का बाजार गर्म है कि हरक भी भाजपा का दामन थाम सकते हैं। लोगों का कहना है कि हरक ने पहले बहू की भाजपा में एंट्री कराई और अब खुद भी भाजपा में जाने वाले हैं। हालांकि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का कहना है कि हरक सिंह रावत का निष्कासन भाजपा हाई कमान के द्वारा किया गया है और भाजपा हाई कमान ही उनके पार्टी में शामिल होने पर विचार करेगा। फिलहाल हरक का भाजपा में शामिल होने का कोई प्रस्ताव नहीं आया है। अनुकृति गुसाईं की भाजपा में एंट्री पर लैंसडाउन से भाजपा विधायक दिलीप रावत की एक पोस्ट भी चर्चाओं का विषय बनी है जो उन्होंने अनुकृति गुसाईं के भाजपा में शामिल होने के बाद किया। जिसमें उन्होंने राम तेरी गंगा मैली हो गई है पापियों के पाप धोते-धोते लिखा है। जिसके बड़े मायने निकाले जा रहे हैं।

 

यह पढ़ेंःUttarakhand: हरक सिंह की बहू अनुकृति गुसाईं को ईडी का समन, आज दर्ज करवाएंगी बयान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *