Pakistan: पाकिस्तान के राष्ट्रपति बने जरदारी, बेटी आसिफा को बनाया देश की फर्स्ट लेडी

खबरें सुने

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की फर्स्ट लेडी की पदवी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की बेटी आसिफा भुट्टो को दिया जाएगा। देश के नवनियुक्त राष्ट्रपति आसिफ जरदारी ने अपनी बेटी को देश की प्रथम महिला के रूप में औपचारिक मान्यता देने की फैसला किया है। आमतौर पर देश की प्रथम महिला राष्ट्रपति की पत्नी ही होती है, लेकिन जरदारी की पत्नी पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो का इंतकाल हो चुका है। ऐसे में जरदारी ने अपनी बेटी को चुना है।

पाकिस्तान के इतिहास में यह पहली बार होगा कि राष्ट्रपति ने प्रथम महिला के पद के लिए अपनी बेटी की घोषणा की है। सूत्रों ने दावा किया कि राष्ट्रपति जरदारी आसिफा भुट्टो को पाकिस्तान की प्रथम महिला घोषित करेंगे, जिसके बाद आसिफा को प्रथम महिला के अनुरूप प्रोटोकॉल और विशेषाधिकार दिए जाएंगे।

अखबार डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार को पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष आसिफ जरदारी ने पाकिस्तान के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ले ली। यह पहला मौका है पाकिस्तान के राजनीतिक इतिहास में की देश के प्रमुख के रूप में गैर सैन्य व्यक्ति ने दूसरी बार कार्य़काल ग्रहण किया है। जरदारी ने 2008 से 2013 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया था। पाकिस्तान चुनाव आयोग के अनुसार, जरदारी ने शनिवार को अपने प्रतिद्वंद्वी और पश्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी (पीकेएमएपी) के प्रमुख महमूद खान अचकजई को हराने के लिए 411 चुनावी वोट हासिल किए थे, जिन्हें केवल 181 वोट ही मिल सके थे।

पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश काजी फैज ईसा ने राष्ट्रपति भवन में जरदारी को शपथ दिलाई। उनके साथ नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और निवर्तमान राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के अलावा सेनाध्यक्ष जनरल असीम मुनीर, ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष जनरल साहिर शमशाद मिर्जा और पीपीपी प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी भी मौजूद थे।

 

यह पढ़ेंःPakistan: पाकिस्तान में शहबाज शरीफ ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *