Himachal: यूएई से हिमाचल में 6 हजार करोड़ के निवेश के लिए सीएम सुक्खू पहुंचे दुबई

खबरें सुने

शिमला। हिमाचल में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के निवेशकों को रिझाने के लिए मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू दुबई पहुंचे हैं। वे वहां के बड़े औद्योगिक घरानों से हिमाचल में निवेश को लेकर चर्चा करेंगे। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को एमीरेट्स हिल्स दुबई में निवेशकों से मुलाकात की है। वह पर्यटन, हाइड्रो, फार्मा, स्वास्थ्य, अधोसंरचना विकास, रियल एस्टेट सहित शिक्षा के क्षेत्र में निवेश के लिए एमओयू साइन कर सकते हैं। सुक्खू सरकार का संयुक्त अरब अमीरात से लगभग छह हजार करोड़ रुपये का निवेश लाने का लक्ष्य है।

प्रदेश में जुलाई व अगस्त माह की आपदा के बाद अब सरकार बड़े स्तर पर निवेश की संभावनाएं तलाश रही है। इसी दिशा में सीएम सुक्खू कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दुबई के दौरे पर गए हैं। सीएम दुबई में वहां के राजदूत से मिलेंगे। गौरतलब है कि यूएई ने हिमाचल के पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के साथ 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक के निवेश प्रस्तावों पर हस्ताक्षर किए हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी दुबई में रोड शो के साथ निवेशकों से अपने राज्य में निवेश पर चर्चा की। हिमाचल में निवेश की संभावनाएं उत्तराखंड से अधिक हैं। खासतौर पर पर्यटन, फार्मा, आइटी व शिक्षा के साथ अधोसंरचना विकास की संभावनाएं अधिक हैं। राज्य में बिजली उत्तराखंड से सस्ती है। औद्योगिक क्षेत्रों में माहौल कमोवेश शांत है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री सुक्खू यूएई से निवेश लाने में कामयाब होंगे।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू दुबई से लौटने के बाद 17 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित हिम महोत्सव का शुभारंभ करेंगे। उद्योग, आयुष एवं संसदीय मामलों के मंत्री हर्षवर्धन चौहान भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे। हिम महोत्सव में प्रदेश की पारंपरिक कला, संस्कृति, परिधान और स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद भी लिया जा सकेगा। इस कार्यक्रम में हिमाचल के कोने-कोने से हैंडलूम कारीगरों और स्वयं सहायता समूहों को राष्ट्रीय स्तर पर अपने हुनर को प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा। हिमाचली फैशन शो का भी इस दौरान आयोजन किया जाएगा।

 

यह पढ़ेंःHimachal: श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान में शामिल होंगे सुक्खू सरकार के पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *