कड़ी मेहनत से अभय जोशी बने आईईएस के टाॅपर

खबरें सुने

हल्द्वानी। किसी भी काम या लक्ष्य को हासिल करने के लिए आत्मविश्वास जरूरी है। तब फर्क नहीं पड़ता कि आप छोटे शहर से हैं या फिर बड़े शहर से। इसी आत्मविश्वास की बदौलत अभय जोशी ने छोटे शहर हल्द्वानी से निकलकर राष्ट्रीय स्तर पर बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है। वह बताते हैं, चयनकर्ताओं ने छोटे शहर के मेहनती युवाओं के आत्मविश्वास विषय पर चर्चा की।

भारतीय आर्थिक सेवा परीक्षा में देश भर में पहला स्थान हासिल करने वाले अभय जोशी ने कहा कि अगर आप स्मार्ट वर्क पर ध्यान देते हैं और पूरी ईमानदारी से लक्ष्य पर केंद्रित रहते हैं तो आपका आत्मविश्वास भी बढऩे लगता है। बताते हैं, कई बार जब आप कड़ी मेहनत करते हुए छोटे शहर से निकलकर बड़े शहर में जाते हैं। आपका अनुभव और माइंडसेट और बड़ा हो जाता है।

स्वास्थ्य आपदा के बाद सुधर रही आर्थिक स्थिति 
अभय बताते हैं, देश में आर्थिक असमानता सबसे बड़ी समस्या है, लेकिन स्वास्थ्य आपदा यानी कोरोना मेंदेश की आर्थिक स्थिति चरमरा गई। जिस तरीके से देश ने आर्थिक स्थिति की मजबूती के लिए प्रयास किया, वह सराहनीय कदम है। इंटरनेट मीडिया से दूरी बनाए रखने वाले अभय बताते हैं, उनकी बचपन से ही रिसर्च में रुचि रही है। वह भारतीय आर्थिक असमानता को दूर करने को लेकर काम करेंगे।
आइईएस में ऐसे जाएं 
आइईएस परीक्षा में शामिल होने के लिए अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर डिग्री होनी चाहिए। यह परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग कराता है। सफलता के बाद वित्त मंत्रालय में डिप्टी डायरेक्टर पद से शुरुआत होती है। साथ ही राष्ट्रीय स्तर के आर्थिक संस्थानों के अलावा अंतरराष्ट्रीय स्तर के आर्थिक संस्थानों में भविष्य संवार कर सकते हैं। इस बार देशभर से 15 पदों पर नियुक्ति हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *