Uttarakhand: मुख्यमंत्री धामी के तीन साल पूरे, लिये कई महत्वपूर्ण फैसले

खबरें सुने

देहरादून, [03.07.24] : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा कर लिया। इन तीन सालों में उन्होंने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए, जिनसे प्रदेश का स्वरूप ही बदल गया।

धामी सरकार की प्रमुख उपलब्धियां:

  • समान नागरिक संहिता (यूसीसी): धामी सरकार ने उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता विधेयक लागू किया, जिससे सभी को समान अधिकार मिलेंगे।

  • नकल विरोधी कानून: धामी सरकार ने प्रदेश में देश का सबसे कठोर नकल विरोधी कानून लागू किया, जिससे परीक्षाओं में पारदर्शिता और समयबद्धता आई है।

  • धर्मांतरण विरोधी कानून: उत्तराखंड में जबरन धर्मांतरण पर रोक लगाने के लिए एक सख्त धर्मांतरण विरोधी कानून बनाया गया। अब जबरन धर्मांतरण करने या कराने पर 10 साल तक की सजा का प्रावधान है।

  • दंगारोधी कानून: प्रदेश में दंगारोधी कानून लागू कर दिया गया है, जिससे दंगाइयों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दंगे में हुई सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई दंगाइयों से ही की जाएगी।

  • महिलाओं को 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण: सरकारी नौकरी में महिलाओं को 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण देने का ऐतिहासिक फैसला लिया गया।

  • नई शिक्षा नीति: उत्तराखंड नई शिक्षा नीति को सबसे पहले लागू करने वाला राज्य बना। मुख्यमंत्री मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना के तहत कक्षा 6वीं से 12वीं तक पढ़ने वाले विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जा रही है।

  • लैंड जिहाद पर कार्रवाई: लैंड जिहाद के तहत की गई कार्रवाई में प्रदेश में करीब पांच हजार एकड़ सरकारी भूमि कब्जामुक्त कराई गई।

  • नारी सशक्तिकरण योजना: महिलाओं को प्रोजेक्ट कॉस्ट का 30 प्रतिशत या एक लाख रुपए की सब्सिडी प्रदान की जा रही है। महिला स्वयं सहायता समूहों को पांच लाख रूपए तक का ऋण बिना ब्याज के दिया जा रहा है।

  • लखपति दीदी योजना: महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए लखपति दीदी योजना के तहत महिला स्वयं सहायता समूहों को 5 लाख तक का ऋण बिना ब्याज के दिया जा रहा है। 80 हजार महिलाएं स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से सलाना पांच से सात लाख कमाकर लखपति दीदी बनी है। सरकार ने 2025 तक 1.25 लाख महिलाओं को लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य रखा है।

  • मानसखंड कॉरिडोर और रोपवे कनेक्टिविटी: मानसखंड कॉरिडोर, शारदा कॉरिडोर, हरिद्वार-ऋषिकेश कॉरिडोर केदारखंड के साथ-साथ मानसखंड कॉरिडोर के तहत कुमांऊ क्षेत्र के मंदिरों का विकास किया जा रहा है। प्रदेश में रोपवे कनेक्टिविटी का विस्तार किया जा रहा है।

  • पीआरडी जवानों का मानदेय बढ़ाया: पीआरडी जवानों के मानदेय में 80 रुपए प्रतिदिन की बढ़ोत्तरी की गई

 

Pls read:Uttarakhand: हल्द्वानी में केलसिया नाला फिर बना कहर, रातभर शिफ्ट में पहरा देते रहे लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *