Uttarakhand: हल्द्वानी में केलसिया नाला फिर बना कहर, रातभर शिफ्ट में पहरा देते रहे लोग

खबरें सुने

हल्द्वानी, [तारीख] : हल्द्वानी में कलसिया नाला एक बार फिर कहर बनकर आया है। हर साल बरसात के मौसम में नाला आसपास के इलाकों में बाढ़ का कारण बनता है। इस साल भी नाले के किनारे बसे 65 से ज़्यादा परिवारों को बाढ़ का सामना करना पड़ा है।

वर्ष 2023 में बाढ़ ने कई घरों को तबाह कर दिया था। सिंचाई विभाग ने बाढ़ सुरक्षा के नाम पर आधी अधूरी दीवार बनाई थी, जिससे नाले के मुहाने पर भू-कटाव फिर से शुरू हो गया है। इस बार भी मंगलवार की रात आई बाढ़ से पांच से छह घरों को खतरा हो गया है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि नाले पर जाल लगाना बाढ़ से बचाव का सबसे कारगर तरीका है, लेकिन अधिकारियों ने इसे नजरअंदाज करके नाले के एक किनारे पर आधी-अधूरी दीवार बना दी है। पिछले रविवार से हो रही लगातार बारिश से नाले में बाढ़ का खतरा लगातार बढ़ रहा है।

लोगों ने अपनी जान बचाने के लिए रातभर जागकर घरों में बाढ़ का पहरा दिया। बच्चे, महिलाएं और बुजुर्ग सभी दहशत में थे। लोगों ने बताया कि 50-60 साल से जिस घर में रहते हैं उसे छोड़ना उनके लिए बेहद मुश्किल है। वे कहते हैं कि घर बह ही जाएगा तो छोड़ देंगे।

कलसिया नाले की चोट सीधे घरों पर पड़ रही है। नाले से बुनियाद खोखली होने लगी है और नाले की तरफ आने वाले लगभग 10 घरों में दरारें आ चुकी हैं।

यह घटना एक बार फिर अधिकारियों की लापरवाही और बाढ़ सुरक्षा व्यवस्था में कमियों को उजागर करती है। बरसात से पहले अगर उचित इंतजाम किए जाते तो लोगों को इतने बड़े संकट का सामना नहीं करना पड़ता।

 

Pls read :Uttarakhand: सीएम पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय विद्युत मंत्री मनोहर लाल खट्टर से भेंट की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *