Uttarkashi tunnel rescue: श्रमिकों के प्राथमिक स्वास्थ्य जांच के लिए उत्तरकाशी में दो अस्पताल तैयार, एम्स एयरलिफ्ट की भी तैयारी

खबरें सुने

उत्तरकाशी। सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों को सुरंग से बाहर निकलने के बाद सबसे पहले चिकित्सकों की निगरानी में रखा जाएगा। इसके लिए सिलक्यारा, चिन्यालीसौड़ व उत्तरकाशी स्थित जिला अस्पताल में पूरी व्यवस्था कर ली गई है। सिलक्यारा में 10 बेड का अस्थायी अस्पताल बनाया गया है, जबकि सामुदायिक अस्पताल चिन्यालीसौड़ व जिला अस्पताल उत्तरकाशी में 41-41 बेड की व्यवस्था की गई है।

साथ ही ऋषिकेश एम्स को भी अलर्ट पर रखा गया है। किसी भी आपात स्थिति में श्रमिकों को एयरलिफ्ट कर एम्स पहुंचाया जाएगा। सिलक्यारा में जैसे-जैसे बचाव अभियान अंतिम चरण में पहुंच रहा, वैसे-वैसे तमाम विभाग अपनी-अपनी तैयारी में जुटे हुए। इसी क्रम में महानिदेशक चिकित्सा डा. विनीता शाह ने मंगलवार को उत्तरकाशी व सिलक्यारा का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति जांची थी। सुरंग से बाहर निकलने पर सिलक्यारा में प्राथमिक उपचार के बाद सभी श्रमिकों को सबसे निकटवर्ती अस्पताल चिन्यालीसौड़ भेजने की योजना है। अगर किसी श्रमिक की स्थिति गंभीर हुई तो उसे एयर लिफ्ट कर ऋषिकेश एम्स लाया जाएगा। सिलक्यारा में अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाओं वाली 45 एंबुलेंस भी तैनात की गई हैं।

 

Pls read:Uttarakhand: रिलायंस डकैती कांड में शामिल एक बदमाश चढ़ा दून पुलिस के हत्थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *