Uttarakhand: इस वर्ष 54 लाख से अधिक श्रद्धालु पहुंचे चार धाम यात्रा में

खबरें सुने

अक्टूबर में चारधाम यात्रा ने जो गति पकड़ी थी वो शीतकाल में भी जारी है।मानसून विदा होने के बाद अक्टूबर में चारधाम यात्रा ने जो गति पकड़ी थी, वो शीतकाल में भी जारी है। अभी भी प्रतिदिन 20 हजार से अधिक तीर्थयात्री चारधाम पहुंच रहे हैं। जबकि, बीते वर्षों में शीतकाल में यात्रा को लेकर ऐसा उत्साह नजर नहीं आता था। इस सीजन में चार धाम में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 54 लाख पार कर चुकी है।

अभी यात्रा 18 नवंबर तक जारी रहेगी। ऐसे में इस बार चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 60 लाख तक पहुंचने की उम्मीद है। पिछले वर्ष 46.29 लाख श्रद्धालु चारधाम पहुंचे थे। यात्रियों की बढ़ती संख्या से श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति भी उत्साहित है।

अब तक 54 लाख 24 हजार चार सौ तैंतीस श्रद्धालु चारों धाम में दर्शन कर चुके हैं। सबसे अधिक 19.07 लाख यात्री केदारनाथ धाम पहुंचे हैं, जबकि बदरीनाथ धाम की 17.18 लाख यात्रियों ने यात्रा की है। यमुनोत्री में 7.28 लाख और गंगोत्री में 8.92 लाख श्रद्धालुओं ने दर्शन किए हैं।आपदा के बाद 4 साल प्रभावित रही यात्रा
प्रदेश में वर्ष 2013 में आई भीषण आपदा के कारण चार वर्ष तक चारधाम यात्रा पूरी तरह प्रभावित रही। वर्ष 2018 और 2019 में यात्रा पटरी पर लौटने लगी, लेकिन फिर दो वर्ष तक कोविड का प्रकोप रहा। वर्ष 2022 में यात्रा पटरी पर लौटी और इस सीजन में यात्रा ने पिछले सभी रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। इसका एक कारण केदारपुरी और बदरीशपुरी के पुनर्निर्माण के साथ चारों धाम में यात्री सुविधा अच्छी होने को भी माना जा रहा है।

धाम – तीर्थयात्री

केदारनाथ – 19,07,070

बदरीनाथ – 17,18,696

गंगोत्री – 8,92,836

यमुनोत्री – 7,28,368

हेमकुंड साहिब – 1,77,463

 

इस तारीख को बंद होंगे मंदिर के कपाट
शीतकाल के लिए चारों धाम के कपाट इसी माह बंद होने हैं। गंगोत्री के कपाट 14, केदारनाथ व यमुनोत्री के कपाट 15 और बद्रीनाथ धाम के कपाट 18 नवंबर को बंद किए जाएंगे।

 

यह पढ़ेंःUttarakhand: रेल मंत्री से मिले सीएम धामी, टनकपुर-बागेश्वर रेललाइन निर्माण शीघ्र शुरू करने की रखी मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *