हरिद्वार में धर्म संसद और ये हो गया बबाल

खबरें सुने

उत्तराखंड के हरिद्वार में तीन दिनों तक चली धर्म संसद में कथित तौर पर मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे भाषण दिए गए और हिंसा का समर्थन किया गया। गुरुवार को सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो सामने आने के बाद विवाद खड़ा हो गया है और कार्रवाई की मांग तेज हो गई है। इस धर्म संसद का आयोजन 17 से 19 दिसंबर के बीच किया गया था, जिसमें कई संतों के अलावा बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय भी शामिल हुए थे।

वीडियो वायरल होने के बाद आरटीआई कार्यकर्ता और तृणमूल कांग्रेस साकेत गोखले ने ट्वीट करके बताया कि उन्होंने ज्वालापुर पुलिस स्टेशन में एसएचओ को शिकायत दी है।  उन्होंने लिखा, ”24 घंटे में आयोजकों और वक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज न करने पर न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष वाद किया जाएगा।” इस सम्मेलन का आयोजन यति नरसिंहानंद की ओर से किया गया था। इसमें हिंदू रक्षा सेना के अध्यक्ष स्वामी प्रमोदानंद गिरी, स्वामी आनंदस्वरूप, साध्वी अन्नपूर्णा आदि वक्ता के रूप में शामिल हुए। आखिरी दिन बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय भी पहुंचे थे। हालांकि, उन्होंने इससे अपने आप को अलग करते हुए कहा कि वह केवल 30 मिनट वहां रुके थे और उन्हें नहीं पता कि यहां क्या कहा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *