किसान आज लौटे घर, गाजीपुर बार्डर किया खाली

खबरें सुने

गाजियाबाद के यूपी गेट पर आंदोलनकारी किसानों ने आज सुबह हवन और पूजा पाठ कर अपने घर वापसी की तैयारी शुरू कर दी है। किसानों ने यूपी गेट से फतेह मार्च निकालने से पहले हवन में आहुति दी जिस दौरान किसान नेता गौरव टिकैत, मीडिया प्रभारी शमशेर राणा होशियार सिंह और अन्य किसान मौजूद रहे। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी गाजीपुर बॉर्डर पहुंच चुके हैं।हवन संपन्न होने के बाद किसानों ने अपने सामान तैयार कर लिए और एक-दूसरे से मिलकर विदा की तैयारी कर रहे हैं। फतेह मार्च निकालने से पहले किसानों ने देशभक्ति गीतों पर भी डांस किया। यहां हर किसी के मन में खुशी और गम दोनों के भाव हैं।

मुजफ्फरनगर तक निकलेगा फतेह मार्च
तय कार्यक्रम के अनुसार यूपी गेट से किसान गाड़ी और ट्रैक्टर-ट्रॉली के साथ मुजफ्फरनगर किसान भवन सिसौली तक फतेह मार्च करेंगे। भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने सोशल मीडिया पर किसानों से यूपी गेट पर पहुंचने का आह्वान मंगलवार को ही किया था। वहीं, यूपी गेट आंदोलन स्थल से भाकियू के भी अधिकांश तंबू व टेंट हट गए हैं। मंगलवार को किसान भाकियू के लंगर के सामने बैठकर आगे की रणनीति बनाते नजर आए।

आज खाली हो जाएगा गाजीपुर बॉर्डर
प्रदेश अध्यक्ष राजबीर सिंह जादौन ने बताया कि 15 दिसंबर तक यूपी गेट, दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे, एनएच-9 की सड़कें पूरी तरह से खाली हो जाएंगी। अधिकांश किसान यहां से घर लौट चुके हैं। कई किसान जाते समय काफी भावुक हुए तो कुछ जाने को तैयार नहीं थे। अभी 100-150 से ज्यादा किसान आंदोलन स्थल पर हैं। किसानों में खुशी है कि सरकार ने तीन कृषि कानूनों को वापस ले लिया। मगर कुछ दिनों बाद ही अन्नदाता एक जनवरी से सरकार से अपनी आय दो गुना होने के बारे में सवाल पूछेगा, क्योंकि सरकार ने पूर्व में भरोसा दिया था कि वर्ष 2022 से किसानों की आय दोगुना हो जाएगी।

आंदोलन स्थल खाली करने से पहले किसान यहां पर हवन और पूजा-पाठ कर रहे हैं। साथ ही गाजियाबाद, नोएडा और अन्य जगहों के किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली व गाड़ियों के साथ फतेह मार्च कर यहां से प्रस्थान करेंगे। राकेश टिकैत ने फतेह मार्च को ऐतिहासिक बनाने का आह्वान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *