सीडीएस जनरल बिपिन रावत के हेलीकाप्टर क्रैश के बाद टीवी सेट के आगे बैठे गए थे ग्रामीण

खबरें सुने

कोटद्वार। बुधवार दोपहर सीडीएस जनरल बिपिन रावत के हेलीकाप्टर क्रैश होने की सूचना जैसे ही उनके पैतृक गांव सैंणा और ग्रामसभा बिरमोली में मिली, ग्रामीण तमाम कार्य छोड़कर टीवी सेट के आगे बैठ गए। ग्रामीण रह-रहकर अप्रैल 2018 के उस दिन को याद कर रहे थे, जब उनका सपूत उनसे मिलने गांव आया था। तब तक सेना मुख्यालय ने उनके निधन की घोषणा नहीं की गई थी।

पौड़ी जिले के द्वारीखाल ब्लाक स्थित बिरमोली ग्रामसभा के तोकग्राम सैंणा निवासी जनरल बिपिन रावत के चाचा भरत सिंह रावत बुधवार को निजी कार्य से कोटद्वार आए हुए थे। दोपहर में जैसे ही उन्हें जनरल रावत को हेलीकाप्टर क्रैश होने की जानकारी मिली, वे तत्काल गांव वापस लौट गए। उधर, भरत सिंह के आवास में उनके परिवार के सदस्य टीवी के सामने बैठ पूरे घटनाक्रम पर नजर जमाए हुए थे। बिरमोली बाजार में व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद कर अपने लाडले की सलामती को प्रार्थना कर रहे थे। ग्राम सभा बिरमोली के पूर्व प्रधान धर्मपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि सभी लोग अपने लाडले के स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे थे। लेकिन, शाम को हादसे में 13 के मारे जाने की सूचना प्रसारित होने के बाद सभी हक्के-बक्के रह गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *