Uttarakhand: रेसकोर्स में नाबालिग की संदिग्ध मौत पर महिला आयोग ने डीआईजी को दिये जांच आदेश

खबरें सुने

देहरादून। रेसकोर्स में नाबालिग की संदिग्ध अवस्था में मौत और सेलाकुई में नाबालिग से दुष्कर्म के मामले का उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने एसएसपी व डीआइजी से वार्ता कर जांच के निर्देश दिए हैं। आयोग की अध्यक्ष ने बताया कि डीआइजी पी रेणुका को नाबालिग किशोरी की मौत के कारण की स्पष्ट जांच करने के निर्देश दिए हैं। वहीं एसएसपी को भी कहा यदि नाबालिग ने यदि आत्महत्या नहीं की तो इसके कारणों की जांच कर आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। नाबालिग से इस प्रकार से अपने फ्लैट में नौकरी करवाने वालों व उसके माता पिता के विरुद्ध भी धाराओं में मामला लिखा जाए।

आयोग की अध्यक्ष ने सेलाकुई निवासी मुस्लिम युवक ने इंस्टाग्राम पर आठवीं कक्षा की किशोरी को दोस्ती की आड़ में बहला फुसला कर दुष्कर्म के मामले में आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।  एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मामले के आरोपित फरमान को पोक्सो के अंतर्गत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस मामले में पीड़िता ने अपने माता पिता के साथ सहित आयोग अध्यक्ष कुसुम कंडवाल से कार्यालय में मुलाकात की।

जिसमें उन्होंने बताया कि आरोपित उसे अपने परिचित आटो रिक्शा से एक कमरे में ले गया। जहां उसने दुष्कर्म किया। पीड़िता ने बताया कि वहीं एक महिला भी थी जो कि ठीक नही थी।

 

यह पढ़ेंःUttarakhand: धामी सरकार खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी में देगी चार फीसद आरक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *