Uttarakhand: बाल संप्रेक्षण गृह की किशोरी ने लगाए दे दुष्कर्म के झूठे आरोप

खबरें सुने

हल्द्वानी। बाल संप्रेक्षण गृह की किशोरी द्वारा विभागीय अधिकारियों पर दुष्कर्म के लगाए गए आरोप जांच में झूठे पाए गए हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद विभागीय मंत्री रेखा आर्य ने अनुसेवक और होमगार्ड के निलंबन को निरस्त कर दिया है।

बता दें कि हाल ही में हल्द्वानी स्थित सम्प्रेषण गृह में रह रही किशोरी ने विभागीय अधिकारियों पर अपने साथ दुष्कर्म की जानकारी दी थी। जिसके बाद मंत्री रेखा आर्या ने विभागीय स्तर पर एक जांच कमेटी का गठन किया था। साथ ही सम्प्रेषण गृह में कार्यरत अनुसेवक और होमगार्ड को तत्काल प्रभाव से निलंबित भी कर दिया था। वहीं पूरे मामले की पुलिस के स्तर से भी जांच की जा रही थी।

मंत्री आर्य ने जानकारी देते हुए बताया कि पूरे मामले की महिला कल्याण विभाग व पुलिस विभाग के द्वारा जांच की गई, जिसमें किशोरी द्वारा लगाए गए दुष्कर्म के आरोप झूठे पाए गए हैं। दरअसल, किशोरी घर जाना चाहती थी, जिसके चलते उसने यह सारा नाटक रचा। मेडिकल रिपोर्ट में भी उसके खिलाफ शारीरिक उत्पीड़न की पुष्टि नहीं हुई है जिसके बाद संप्रेक्षण गृह की महिला कर्मचारी को निर्दोष पाते हुए नियुक्ति पर बहाल कर दिया है।

 

यह पढ़ेंःUttarakhand: सीएम धामी ने श्रीराम कथा के 18वें धार्मिक महा-आयोजन में किया प्रतिभा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *