Uttarakhand: सिविल सर्विस ऑफ़िसर्स वाइव्स एसोसिएशन द्वारा आयोजित संजीवनी दिवाली फेस्ट-2023 का हुआ शुभारंभ

खबरें सुने

शनिवार को ओल्ड मसूरी रोड, देहरादून स्थित सिविल सर्विस इंस्टीट्यूट में सिविल सर्विस ऑफ़िसर्स वाइव्स एसोसिएशन द्वारा आयोजित संजीवनी दिवाली फेस्ट – 2023 का शुभारंभ हुआ। दो दिवसीय चलने वाले संजीवनी दिवाली फेस्ट का शुभारंभ संजीवनी संस्थान की संथापक एवं पूर्व अध्यक्ष मृगांका गुप्ता द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस दौरान उन्होंने संजीवनी संस्थान द्वारा किए गए विभिन्न सामाजिक कार्यों पर आधारित फोटो गैलरी का अवलोकन भी किया एवं संजीवनी संस्थान के सभी सदस्यों के साथ अपने अनुभव साझा किए।

श्रीमती मृगांका गुप्ता ने फेस्ट में लगे विभिन्न स्टॉलो का अवलोकन करते हुए स्थानीय उत्पादों की सराहना की। उन्होंने इस दौरान विभिन्न उत्पादों की खरीदारी भी की एवं विभिन्न जिलों एवं अन्य प्रदेशों से आए स्टालों के बारे में जानकारी प्राप्त की।

श्रीमती मृगांका गुप्ता ने कहा कि उनका उत्तराखंड राज्य से विशेष लगाव है। आज संजीवनी संस्थान सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर भाग ले रहा है। समाज सेवा के साथ ही यह संस्थान प्रदेश में रोजगार के अवसर भी पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा संजीवनी संस्थान का मंच सबको साथ लाने का मंच है। यहां होने वाले फैसले सामाजिक सेवा के साथ ही राज्यहित में भी होते है।

संजीवनी दिवाली फेस्ट-2023 के अवसर पर उत्तराखंड के स्थानीय उत्पादों, संस्कृति एवं सभ्यता को प्राथमिकता देते हुए विभिन्न स्टालों के माध्यम से इन्हें प्रमुखता से दर्शाया गया है। फेस्ट में स्वयं सहायता समूह द्वारा निर्मित उत्पादों को स्टालों के माध्यम से बेचा जा रहा है। जिसमे शॉल, मफलर, स्वेटर, पंखी, पूजा आसान, राजमा, पहाड़ी हाथ से बनी मोमबत्ती, मिट्टी के बर्तन, दिए, रिंगाल के उत्पादों , सजावट सामग्री, के साथ ही पहाड़ी फलों जैसे माल्टा, संतरा और बुराश के जूस, घरों में निर्मित अचार, आदि के विशेष उत्पादों को जगह दी गई है।

संजीवनी दिवाली फेस्ट-2023 में श्री अन्न (मिलेट भोज) को बढ़ावा देने की मकसद से राज्य के विभिन्न मोटे अनाज से बने उत्पादों को विशेष महत्व दिया गया है। जिसमें मँड़ुवे के बिस्कुट एवं अन्य उत्पाद शालिम हैं।

संस्था की अध्यक्ष डॉ. हरलीन कौर संधु ने बताया कि संजीवनी दिवाली फेस्ट-2023 में स्थानीय उत्पादों के साथ महिलाओं को रोजगार देने के लिए अधिक से अधिक स्टालों को जगह दी गई है। उन्होंने कहा संजीवनी संस्था जनहित के कार्य को समर्पित है। हमारे द्वारा समय-समय पर एंट्री ड्रग कैंपेन, साइबर क्राइम, महिला सशक्तिकरण हेतु विभिन्न कार्यशाला का आयोजन होता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में युवाओं को स्टार्टअप के माध्यम से अधिक से अधिक रोजगार से जोड़ा जाए इस पर भी कार्य किया जा रहा है।

संजीवनी संस्था की सचिव श्रीमती रश्मि बर्द्धन ने कहा कि संजीवनी दिवाली फेस्ट-2023 में 60 से ज्यादा स्टालों के माध्यम से पारम्परिक वस्तुकला पर आधारित उत्पाद को मंच दिया गया है। उन्होंने कहा इस वर्ष हमने श्री अन्न उत्पादों को भी प्रमुखता के साथ जगह दी गई है। उन्होंने कहा समय के साथ यह फेस्ट प्रदेश में ख्याति प्राप्त कर रहा है। इस वर्ष प्रत्येक जिले के साथ ही अन्य राज्यों के भी स्टॉल लगाए गए है। उन्होंने बताया कि संस्था द्वारा समय समय पर उत्तराखण्ड राज्य के सामाजिक उत्थान की दिशा में विभिन्न कार्यक्रम चलाए जाते हैं।

इस दौरान अनुराधा जैन, सुनीता सुभाष कुमार, दीपा ओम प्रकाश, रिद्धिम अग्रवाल, अंशु पांडे, अनुराधा सुधांशु, आकांक्षा सिन्हा, मथानी फैनई, गुंजन यादव, हरिका आर राजेश, निर्मला सेमवाल, रजनी तोमर, शालिनी शाह एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *