Punjab: पंजाब पुलिस ने चार राज्यों समेत चंडीगढ़ पुलिस के साथ मिलकर चलाया ‘आपरेशन सील-3

खबरें सुने
  • मुख्यमंत्री भगवंत मान के सपने अनुसार पंजाब पुलिस पंजाब को सुरक्षित राज्य बनाने के लिए वचनबद्ध
  • पुलिस टीमों ने 40 एफआईआर दर्ज करके 49 व्यक्तियों को किया गिरफ़्तार ; आपरेशन के दौरान 45 लाख रुपए की नकदी, 374 ग्राम हेरोइन, 500 ग्राम चरस और नाजायज शराब की बरामद
  • 10 अंतर-राज्यीय सरहदी जिलों के एंट्री/ एग्जिट प्वाइंटों पर लगाए गए थे 70 मज़बूत नाके
  • पुलिस टीमों ने 5726 वाहनों की चैकिंग की, जिनमें से 329 के किये गए चालान और 25 वाहन ज़ब्त
  • आपरेशन का उद्देश्य नशों और शराब की तस्करी को रोकने के इलावा गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों की हरकतों पर नज़र रखना था : विशेष डीजीपी अर्पित शुक्ला
    चंडीगढ़, 19 अगस्तः

मुख्यमंत्री भगवंत मान के सपने अनुसार पंजाब को अपराध मुक्त और नशा मुक्त राज्य बनाने के मद्देनज़र पंजाब पुलिस ने शनिवार को एक विशेष आपरेशन ‘ आपरेशन सील- 3 चलाया, जिसका उद्देश्य सरहदी राज्य में दाखि़ल होने वाले सभी वाहनों की चैकिंग करना था जिससे पंजाब में नशा तस्करी, शराब तस्करी और गैंगस्टरों और समाज विरोधी तत्वों की हरकतों पर पैनी नजर रखी जा सके।

डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव के निर्देशों पर यह आपरेशन चार पड़ोसी राज्यों- हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और जम्मू- कश्मीर और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस बलों के साथ सांझे तौर पर सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक सुनियोजित ढंग से एक ही समय चलाया गया।

विशेष डीजीपी लॉ एंड आर्डर अर्पित शुक्ला ने बताया कि एडीजीपी बठिंडा रेंज, आईजीऐसपी रूपनगर/ पटियाला रेंज और डीआईजीज़ बॉर्डर/ जालंधर/ फिरोजपुर/ फरीदकोट रेंज को सरहदी राज्यों के अपने समकक्ष रेंज इंस्पेक्टर जनरल पुलिस (आईजीऐसपी) के साथ तालमेल करने के लिए कहा गया था जिससे ‘ आपरेशन सील – 3 के हिस्से के तौर पर प्रभावी नकाबन्दी को यकीनी बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि सरहदी जिलों के सभी एसएसपीज़ को गज़टिड अफ़सरों/ एसएचओज़ की निगरानी अधीन सीलिंग प्वाइंटों पर मज़बूत ’नाके’ लगाने के लिए इस कार्यवाही के लिए अधिक से अधिक अधिकारियों और पुलिस कर्मियों को लामबंद करने के निर्देश दिए गए थे।

उन्होंने कहा कि 10 जिलों, जिनकी सीमाएं चार सरहदी राज्यों और यूटी चंडीगढ़ के साथ लगतीं हैं, के सभी एंट्री/ एग्जिट प्वाइंटों पर इंस्पैकटरों/ डी. एस. पीज की निगरानी अधीन 1500 से अधिक पुलिस कर्मियों की तैनाती और बढ़िया तालमेल वाले मज़बूत नाके लगाए गए हैं। 10 अंतर राज्यीय सरहदी जिलों में पठानकोट, श्री मुक्तसर साहिब, फाजिल्का, रोपड़, ऐसएऐस नगर, पटियाला, संगरूर, मानसा, होशियारपुर और बठिंडा शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान शक्की वाहनों/ व्यक्तियों की बारीकी से तलाशी ली गई और आम लोगों के लिए कम से कम असुविधा को यकीनी बनाया गया। उन्होंने आगे कहा, “ हमने सभी पुलिस मुलाजिमों को सख़्ती से हिदायत की थी कि वाहनों की चैकिंग करते समय वह हरेक यात्री के साथ दोस्ताना व्यवहार करें और नम्रता के साथ पेश आएं।

विशेष डीजीपी ने बताया कि राज्य में दाखि़ल होने वाले 5726 वाहनों की चैकिंग की गई, जिनमें से 329 के चालान किये गए और 25 को ज़ब्त किया गया। पुलिस ने 40 एफआईआर भी दर्ज करके 49 व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया। इस दौरान पुलिस टीमों ने दो भगौड़े मुलजिमों को भी गिरफ़्तार किया है।

इसके इलावा पुलिस टीमों ने 45 लाख रुपए की नकदी, 30 किलो भुक्की, 374 ग्राम हेरोइन, 500 ग्राम चरस, 350 लीटर लाहन और 263 लीटर नाजायज शराब बरामद की है। पुलिस टीमों ने पूछताछ के लिए 715 शक्की व्यक्तियों को भी हिरासत में लिया है।

ज़िक्रयोग्य है कि ऐसे आपरेशन फील्ड में पुलिस की मौजूदगी को दर्शाने के इलावा समाज विरोधी तत्वों में डर पैदा करने और आम लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा करने में मदद करते हैं।

 

pls read:Punjab: सीएम मान ने लेखा कमेटी की सिफारिश की दरकिनार, किसानों को मिलती रहेगी मुफ्त बिजली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *