Punjab: नौजवानों के शख्सियत निर्माण में युवा प्रशिक्षण वर्कशापों का अहम योगदान- परमिन्दर सिंह गोल्डी

खबरें सुने
  • युवा सेवाएं विभाग के पाँच दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण वर्कशाप में 115 लड़कियों ने हिस्सा लिया

चंडीगढ़, 23 दिसंबरः

युवा सेवाएं विभाग की ओर से लड़कियों के लिए लगाई गयी पाँच दिवसीय राज्य स्तरीय युवा प्रशिक्षण वर्कशाप आज पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में समाप्त हो गई। समाप्ति समारोह के मौके पर मुख्य मेहमान के तौर पर पहुँचे पंजाब युवा विकास बोर्ड के चेयरमैन परमिंदर सिंह गोल्डी ने वर्कशाप में हिस्सा लेने वाली 115 लड़कियों को सर्टिफिकेट वितरित किये।

परमिंदर सिंह गोल्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व अधीन राज्य सरकार नौजवानों के सशक्तिकरण के लिए निरंतर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशों पर युवा सेवाएं मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर के नेतृत्व अधीन विभाग नयी युवा नीति बना रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी वर्कशापें नौजवान लडक़े- लड़कियों के शख्सियत निर्माण में अहम भूमिका निभाती हैं।

इस मौके पर नेशनल अवार्ड विजेता श्रेया मैनी की तरफ से विशेष लैक्चर दिया गया और वर्कशाप में शामिल लड़कियों को नेशनल अवार्ड प्राप्त करने के लिए मापदण्डों के बारे अवगत करवाया। नेशनल अवार्ड के लिए ज़रूरी गतिविधियों के बारे भी जानकारी सांझा की। इसके इलावा अन्य प्रसिद्ध माहिरों की तरफ से 5 दिवसीय वर्कशाप के दौरान लड़कियों को मोटीवेशनल लैक्चर, सोशल मीडिया के लाभ और हानियों, पेशा प्रमुख कोर्सों, साहित्यक गतिविधियों, नैतिक जिम्मेदारियों और मूल्यों संबंधी लैक्चर दिए गए। इस मौके पर विभाग द्वारा करवाई जाती गतिविधियों और प्रोग्रामों सम्बन्धी अनमोल जानकारी नौजवानों के साथ सांझा की गई।

वर्कशाप के आखिरी दिन विभाग द्वारा चंडीगढ़ पर्यटन विभाग की होप-आन- होप बस के द्वारा चंडीगढ़ की सुखना झील, रॉक गार्डन, रॉज़ गार्डन और अन्य प्रसिद्ध स्थानों की सैर भी करवाई।

इस मौके पर युवा सेवाएं विभाग के सहायक डायरैक्टर कुलविन्दर सिंह और रुपिन्दर कौर और पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ के युवा कल्याण विभाग के अधिकारी भी उपस्थित हुए।

 

PLs read:Uttarakhand: ‘भू-कानून समिति’ की रिपोर्ट पर धामी सरकार ने गठित की ‘प्रारूप समिति’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *