Punjab: पंजाब के मुख्यमंत्री के दख़ल के बाद ‘आरक्षण चोर पकड़ो-पक्का मोर्चा’ ने मोहाली से अपना धरना उठाया

खबरें सुने

-स्थानीय निकाय मंत्री बलकार सिंह ने मोर्चे के नेताओं को मिलकर उनकी माँगों सम्बन्धी बनती कार्यवाही का आश्वासन दिया
चंडीगढ़ / एस.ए.एस. नगर, 31 अक्तूबर:
‘आरक्षण चोर पकड़ो-पक्का मोर्चा’ के नेताओं ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की ओर से आज उनको मिलने आए स्थानीय निकाय मंत्री बलकार सिंह की हाजिऱी में अपना मोहाली धरना ख़त्म करने का ऐलान किया।
सामाजिक न्याय, अधिकारिता और अल्पसंख्यक विभाग पंजाब के डायरैक्टोरेट (पुराने डी.सी. दफ्तर, फेज-1, मोहाली) के बाहर 195 दिनों से चले आ रहे धरने के नेताओं ने मंत्री बलकार सिंह को इस मुद्दे पर आने वाले दिनों में पंजाब सरकार के साथ उच्च स्तरीय बैठक तय करने के लिए माँग पत्र सौंपा।
मंत्री बलकार सिंह ने प्रधान प्रोफ़ैसर हरनेक सिंह समेत मोर्चे के नेताओं को उनके माँग पत्र पर बनती कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने उनको नेताओं के साथ मुलाकात करके उनके मामलों में मेरिट के आधार पर इन्साफ देने का आश्वासन देने के लिए कहा है।
स्थानीय निकाय मंत्री ने कहा कि यह माँग पत्र 12 माँगों पर आधारित है, जिस पर जल्द ही पक्का मोर्चे के नेताओं को बुलाकर सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बातचीत की जायेगी। उन्होंने कहा कि भगवंत सिंह मान सरकार कानून के अनुसार कार्यवाही करने के लिए प्रतिबद्ध है और दोषी पाए जाने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।
स्थानीय निकाय मंत्री ने भगवंत सिंह मान सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा कि मुख्यमंत्री हर पंजाबी के हितों की रक्षा के लिए बहुत स्पष्ट हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने पहले डेढ़ साल के कार्यकाल में मेरिट के आधार पर लगभग 40,000 नौकरियों देकर एक रिकॉर्ड कायम किया है। उन्होंने मोर्चे के नेताओं को आरक्षण का दुरुपयोग करने वालों के खि़लाफ़ बनती कार्यवाही के साथ-साथ भविष्य में ऐसी मुश्किल न बने, इसके लिए भी स्थायी समाधान ढूँढने का आश्वासन दिया।

 

Pls read:Uttarakhand: धामी सरकार ने करवाचौथ पर महिला कर्मचारियों के लिए घोषित किया अवकाश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *