Punjab: पंजाब ए.जी.टी.एफ. द्वारा यू.ए.पी.ए. केस में वांछित रिन्दा का मुख्य संचालक कैलाश खिचन राजस्थान से गिरफ़्तार; पिस्तौल बरामद

खबरें सुने

-पंजाब पुलिस मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के निर्देशों के अनुसार राज्य में संगठित आपराधिक नैटवर्क पर रोक लगाने के लिए प्रतिबद्ध
-दोषी खिचन राज्य में अपराधों को अंजाम देने के लिए बी.के.आई. के सदस्यों को हथियारों की सप्लाई करता था: डीजीपी गौरव यादव
-आगे की जांच जारी, और अधिक गिरफ़्तारियाँ होने की उम्मीद: एआईजी सन्दीप गोयल
चंडीगढ़, 12 जनवरी:
मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के दिशा-निर्देशों के अनुसार राज्य में संगठित आपराधिक नैटवर्क पर रोक लगाने के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन के अंतर्गत पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (ए.जी.टी.एफ.) ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ साझे ऑपरेशन के दौरान पाक आधारित आतंकवादी हरविन्दर सिंह उर्फ रिन्दा और अमरीका आधारित हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी पासिया के अहम साथी को राजस्थान के जि़ला फलौदी के गाँव लोहावत से गिरफ़्तार किया है।
पंजाब के डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस (डीजीपी) गौरव यादव ने आज यहाँ यह जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ़्तार किए गए मुलजिम, जिसकी पहचान कैलाश खिचन के तौर पर हुई है, सितम्बर 2023 में फाजिल्का में गैर-कानूनी गतिविधियों (रोकथाम) एक्ट (यूएपीए) केस में वांछित था। इसके अलावा मुलजिम का आपराधिक इतिहास है और उसके खि़लाफ़ पंजाब और राजस्थान में जबरन वसूली, एनडीपीएस एक्ट और हथियार एक्ट से सम्बन्धित कई आपराधिक केस दर्ज हैं।
डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि पिछले दिनों पंजाब पुलिस द्वारा अलग-अलग आतंकवादी मॉड्यूलों का पर्दाफाश करते हुए मुलजिम खिचन का नाम सामने आने के उपरांत ए.डी.जी.पी. प्रमोद बान के नेतृत्व वाली ए.जी.टी.एफ. टीमों ने ए.आई.जी. सन्दीप गोयल और डीएसपी बिक्रमजीत सिंह बराड़ की निगरानी में राजस्थान में मुलजिम की लोकेशन का पता लगाने के उपरांत केंद्रीय एजेंसियों की मदद से राजस्थान के जि़ला फलौदी के गाँव लोहावत से उसे गिरफ़्तार किया।
उन्होंने बताया कि पुलिस टीमों ने मुलजिम खिचन के कब्ज़े से एक .30 कैलीबर चीनी पिस्तौल और आठ जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं।
डीजीपी ने कहा कि प्राथमिक जांच से पता लगा है कि दोषी खिचन आतंकवादी रिन्दा के निर्देशों पर राज्य में सनसनीखेज़ अपराधों को अंजाम देने के लिए आतंकवादी संगठन बब्बर खालिस्तान इंटरनेशनल (बीकेआई) के सहयोगियों को हथियार सप्लाई करता था।
अधिक विवरण साझे करते हुए एआईजी सन्दीप गोयल ने बताया कि इस मामले में पिछले और अगले संबंधों का पता लगाने के लिए और अधिक पड़ताल जारी है और जल्द ही और गिरफ़्तारियाँ होने की उम्मीद भी है।

 

pls read:Punjab: पंजाब रोडेवज़ के ठेका आधारित ड्राइवरों और कंडक्टरों को रेगुलर करने के लिए सरकार वचनबद्धः लालजीत सिंह भुल्लर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *