Punjab: गन्ना काश्तकारों के गोल्डन संधर मिल की तरफ खड़े बकाए 31 मार्च तक अदा किये जाएंगे: गुरमीत सिंह खुड्डियां

खबरें सुने
  • डी. सी. कपूरथला को पिड़ाई सीजन शुरू होने से पहले 2 करोड़ रुपए की पहली किश्त जारी करना यकीनी बनाने के लिए कहा
  • बकाए की अदायगी के लिए संधर मिल के डिफाल्टर मालिकों की जायदादें ज़ब्त करने की प्रक्रिया में तेज़ी लाने के भी निर्देश दिए

चंडीगढ़, 2 नवंबरः

पंजाब के कृषि और किसान कल्याण मंत्री गुरमीत सिंह खुड्डियां ने आज बताया कि दोआबा क्षेत्र के गन्ना काश्तकारों के गोल्डन संधर मिल्लज़ लिमटिड, फगवाड़ा की तरफ खड़े बकाया लगभग 41 करोड़ रुपए की अदायगी 31 मार्च, 2024 तक करवा दी जायेगी।

कृषि मंत्री और विशेष मुख्य सचिव कृषि श्री के. ए. पी. सिन्हा की तरफ से आज यहाँ पंजाब सिवल सचिवालय- 1 में बी. के. यू. (दोआबा) के प्रधान मनजीत सिंह राय और बी. के. यू. (लक्खोवाल) के प्रधान हरिन्दर सिंह के नेतृत्व में आए गन्ना काश्तकारों के साथ मीटिंग की गई। इस मीटिंग में इंस्पेक्टर जनरल आफ पुलिस (आई. जी.) इंटेलिजेंस जसकरन सिंह भी उपस्थित थे।

स. गुरमीत सिंह खुड्डियां ने डिप्टी कमिश्नर कपूरथला श्री करनैल सिंह को हिदायत की कि मौजूदा मिल मालिक की तरफ से किसानों को 9.72 करोड़ रुपए की अदायगी यकीनी बनाई जाये और इस साल गन्ने की पिड़ाई का सीजन शुरू होने से पहले लगभग 2 करोड़ रुपए की पहली किश्त अदा करवाई जाये। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर को 31 मार्च, 2024 तक गन्ना काश्तकारों की बाकी बचती सारी राशि की अदायगी के लिए गोल्डन संधर मिल के डिफाल्टर मालिकों की जायदादें ज़ब्त करने की प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए भी कहा।

उन्होंने पिछले कुछ दिनों से प्रदर्शनों के उपरांत सील की मिल को तुरंत खोलने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए जिससे अपेक्षित मुरम्मत करवा कर इस साल पिड़ाई सीजन से पहले इस मिल को कार्यशील किया जा सके।

मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार की राज्य के किसानों के हितों की रक्षा करने सम्बन्धी वचनबद्धता को दोहराते हुये उन्होंने स्पष्ट कहा कि किसी को भी किसानों के हितों को नुकसान पहुंचाने की इजाज़त नहीं दी जायेगी।

 

Pls read:Uttarakhand: उत्तराखंड में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले ही अभी तक लगभग 94 हजार करोड़ के एमओयू किए गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *