Punjab: मीत हेयर और हरजोत सिंह बैंस द्वारा अधिक से अधिक खिलाडिय़ों को खेलों में शामिल करने का न्योता

खबरें सुने

*खेल मंत्री और शिक्षा मंत्री ने स्कूली खेलों और परीक्षाओं के अनुसार खेल मुकाबलों का प्रोग्राम बनाया *

*खेल और शिक्षा विभाग द्वारा मिलकर साझा खेल कैलंडर बनाने पर दिया ज़ोर *

चंडीगढ़, 26 अगस्त:
पंजाब में खेल संस्कृति पैदा करने के उद्देश्य के अंतर्गत मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के निर्देशों अधीन बनाई गई ‘खेडां वतन पंजाब दियां’ के सीजन-2 के लिए राज्य सरकार द्वारा सारी तैयारी मुकम्मल कर ली गई है और अधिक से अधिक खिलाडिय़ों को इन खेलों में हिस्सा लेने के लिए उपयुक्त और अनुकूल माहौल सृजन किया गया है।

‘खेडां वतन पंजाब दियां-2023’ के ब्लॉक, जि़ला और राज्य स्तरीय मुकाबलों में अधिक से अधिक खिलाडिय़ों को शामिल करने को सुनिश्चित बनाने के लिए खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर और शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस द्वारा दोनों विभागों के अधिकारियों के साथ साझी मीटिंग की गई। दोनों कैबिनेट मंत्रियों के निर्देशों पर स्कूली खेलों और स्कूली परीक्षाओं के अनुसार खेल मुकाबलों का प्रोग्राम बनाया गया है, जिससे विद्यार्थियों को खेल और परीक्षाओं के लिए बराबर समय मिल सके।
खेल मंत्री मीत हेयर ने बताया कि 35 खेलों के लिए आठ उम्र वर्गों के मुकाबले करवाए जा रहे हैं और छोटी उम्र वर्गों में स्कूली विद्यार्थी होने के कारण आज फ़ैसला किया गया कि खेल और शिक्षा विभाग द्वारा मिलकर साझा खेल कैलंडर बनाएं। उन्होंने कहा कि स्कूली परीक्षाओं के हिसाब से प्रोग्राम बनाया गया है कि अब ब्लॉक स्तरीय टूर्नामैंट 31 अगस्त से 9 सितम्बर, जि़ला स्तरीय टूर्नामैंट 26 सितम्बर से 5 अक्तूबर और राज्य स्तरीय टूर्नामैंट 10 से 25 अक्तूबर तक होंगे। छोटे उम्र वर्गों के ब्लॉक मुकाबले अगली तारीखों में होंगे और जि़ला मुकाबले आखीरी तारीखों में होंगे, जिससे खिलाडिय़ों की पढ़ाई का नुकसान भी न हो और परीक्षा की तैयारी कर सकें। राष्ट्रीय खेल दिवस वाले दिन 29 अगस्त को बठिंडा में मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान खेलों का उद्घाटन करेंगे।

शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा खेल के मुकाबलों की तारीखों के अनुसार ही शिक्षा विभाग द्वारा परीक्षाओं की डेटशीट तैयार की जा रही है, जिससे अधिक से अधिक विद्यार्थी खेलों में हिस्सा ले सकें। उन्होंने कहा कि ब्लॉक और जि़ला स्तरीय मुकाबलों के दरमियाने समय के दौरान परीक्षाएं ली जाएंगी।

मीटिंग में विशेष मुख्य सचिव खेल और युवक सेवाओं सरवजीत सिंह, सचिव स्कूल शिक्षा के.के. यादव, विशेष सचिव खेल आनन्द कुमार, शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरैक्टर (फिजिक़ल एजूकेशन) सुनील कुमार और खेल विभाग के डिप्टी डायरैक्टर परमिन्दर सिंह सिद्धू भी उपस्थित थे।

 

Pls read:Punjab: मुख्यमंत्री ने आंकड़ों के साथ दिया राज्यपाल की चिट्ठियों का जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *